एक मुस्लिम होने के नाते पुलवामा आतंकी हमले पर आप क्या सोचते हैं?


#1

image

पुलवाला में आत्मघाती हमले में शामिल इस्लामिक आतंकी आदिल डार ने सीआरपीएप के काफिले पर हमले से पहले एक विडियो रिकॉर्ड किया था, जिसमें उसने गोमूत्र पीने वाले व मूर्ति पूजक हिन्दुओं को खत्म करने की बात कही थी, साथ ही भारत पर इस्लामिक परचम लहराने का दावा किया था।

आदिल डार ने विडियो के जरिए बाबरी मस्जिद तथा गुजरात के दंगों पर भारतीय मुसलमानों को भी भड़काने की पुरजोर कोशिश की। पूरे प्रकरण की खास बात यह रही कि सोशल मीडिया में मुस्लिम समुदाय एक वर्ग आतंकी डार के समर्थन में खड़े नजर आया। इनमें से अधिकतर कश्मीरी हैं।

वहीं, देश में ऐसे मुसलमानों की भी कमी नहीं है जो सड़कों पर पाकिस्तान का विरोध करने उतरे हैं। कुल मिलाकर इस मामले में मुसलमान बंटे हुए नजर आ रहे हैं।

एक मुस्लिम होने के नाते पुलवामा आतंकी हमले पर आप क्या सोचते हैं?


#2

दरअसल कश्मीर में भी जो मुस्लिम हैं वो दो अलग मान्यता रखते हैं. हिंसापरस्त लोग कम हैं लेकिन भय का माहौल बनाने में सफल रहे हैं.