पश्चिम बंगाल सरकार ने फिल्म का प्रदर्शन रोका, अब सुप्रीम कोर्ट ने लगाया 20 लाख रुपए का जुर्माना


#1

image

पश्चिम बंगाल में एक फिल्म की खास चर्चा रही है। ‘भविष्‍योतेर भूत’ नामक इस फिल्म पर राज्य सरकार ने रोक लगा दी थी। हालांकि, अब सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को फटकार लगाते हुए 20 लाख रुपए का जुर्माना लगाया है।

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि राज्य सरकार की कार्रवाई व्यक्तिगत स्वतंत्रता और अभिव्यक्ति की आजादी के लिए गंभीर खतरा है।

न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति हेमन्त गुप्ता की पीठ ने पश्चिम बंगाल पुलिस की तीखी आलोचना करते हुए कहाः

“सिनेमाघरों से फिल्म उतरवाने की उसकी कार्रवाई आवाज और मौजूदा संस्कृति के प्रति आलोचनात्मक दृष्टिकोण को दबाने का प्रयास है और यह कानून का पालन करने वाले नागरिकों को भयभीत करने वाला है। सरकार विशेष रूप से यह सुनिश्चित करेगी कि सिनेमा घर के मालिकों की संपत्ति संरक्षित की जाए और दर्शकों की सुरक्षा का ध्यान रखा जाये। इसमें कोई भी संदेह नहीं है कि यह लोक अधिकारों का दुरूपयोग है। पुलिस की कानून लागू करने की जिम्मेदारी है, लेकिन इस मामले में पश्चिम बंगाल पुलिस ने अपने वैधानिक अधिकारों से बाहर निकल कर आलोचनात्मक दृष्टिकोण और आवाज को दबाने का सतत प्रयास किया है।”

इससे पहले राज्य सरकार ने इस फिल्म पर रोक लगा दी थी। पश्चिम बंगाल पुलिस की विशेष शाखा की ओर से एक निर्माता को यह संदेश मिला था कि फिल्म में जो कुछ दिखाया गया है, उससे लोगों की भावनाएं आहत हो सकती हैं जिससे कानून-व्यवस्था की समस्या खड़ी हो सकती है।

अनिक दत्ता के निर्देशन में बनी यह फिल्म 15 फरवरी को रिलीज हुई थी। यह एक राजनीतिक व्यंग्य है।