तृणमूल का प्रचार कर रहा है बांग्लादेशी अभिनेता, आखिर पश्चिम बंगाल में चल क्या रहा है?


#1

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर आरोप लगते रहे हैं कि उनके शासनकाल में पश्चिम बंगाल में मुसलमानों को प्रश्रय मिलता रहा है। यहां तक कि सीमा पार बांग्लादेश से आने वाले अवैध घुसपैठिए निर्बाध रूप से पश्चिम बंगाल में अपनी गतिविधियां चला रहे हैं।

आरोप यह भी लगते रहे हैं कि पश्चिम बंगाल के मतदाताओं में एक बड़ी संख्या बांग्लादेश से अवैध तरीके से आए घुसपैठियों की है जिन्होंने यहां वोटर कार्ड और आधार कार्ड सरीखे कागजात फर्जी तरीके से बनवा रखे हैं। ऐसे में लोकसभा चुनावों के दौरान एक बांग्लादेशी अभिनेता का सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में प्रचार करना लोगों की त्यौरियां चढ़ा रहा है।

बांग्लादेशी अभिनेता फिरदौस पश्चिम बंगाल के रायगंज और हेमताबाद में बंगाली एक्टर्स पायल सरकार और अंकुश के साथ प्रचार कर रहा है।

भारतीय जनता पार्टी के पश्चिम बंगाल प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष इस पर सवाल उठाते हुए पूछा हैः

“भारत के चुनाव में किसी विदेशी व्यक्ति के प्रचार की क्या जरूरत है? मैनें ऐसा पहले कभी नहीं सुना है। कल ममता बनर्जी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को तृणमूल कांग्रेस के प्रचार के लिए आमंत्रित कर सकती हैं। एक बांग्लादेशी अभिनेता भारत के सबसे बड़े लोकतांत्रिक पर्व का हिस्सा नहीं हो सकता है। हम इसकी निन्दा करते हैं।”

मुर्शिदाबाद, माल्दा और दिनाजपुर सरीखे जिलों में मुस्लिम वोट निर्णायक भूमिका में हैं। ये इलाके बेहद संवेदनशीलऔर बांग्लादेशी आतंकियों की शरणस्थली के रूप में कुख्यात हैं।

बांग्लादेश के आतंकियों को यहां से पकड़ा जा चुका है। ऐसे में इन इलाकों में बांग्लादेशी अभिनेता द्वारा तृणमूल का प्रचार किया जाना अपने-आप में कई सवाल खड़े करता है।